Home Health जब शरीर में दिखने लगें ये बदलाव तो समझ जाना हो रही...

जब शरीर में दिखने लगें ये बदलाव तो समझ जाना हो रही है आपकी किडनी खराब

28
0
SHARE

आप सभी का स्वागत है आपके अपने चैनल सब यहाँ है अगर आपने अभी तक हमारे चैनल को फॉलो नहीं किया है तो फॉलो करना ना ना करें। सच में हम लाते है आपके लिए नई जानकारी सबसे पहले।

21 तारीख होली के दिन अचानक खुल जाएगी इन 4 राशि वालों की किस्मत

हम सभी जानते हैं कि किडनी हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। यह शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है। यदि उसडनी में कोई खराबी है तो हानिकारक पदार्थ शरीर से बाहर नहीं निकल सकता है और इसके असर से हमारा लीवर और दिल पर पड़ जाता है।) आजकल क्रॉनिक किडनी डिजीज यानी किडनी फेल्योर की समस्या तेजी से बढ़ रही है।

अगर हम समय रहते उसडनी की समस्या को जान लें तो इसका इलाज करके इसे ठीक किया जा सकता है। आज हम आपको ऐसे कुछ लक्षण के बारे में बताएंगे ताकि आप समय रहते बीमारी की पहचान कर सकें और इलाज कर सकें। जब उसडनी खराब हो जाती है, तो विषाक्त पदार्थ शरीर में जमा होने लगते हैं, जिससे हाथों और पैरों में सूजन आ जाती है।

पेशाब भी किडनी की समस्याओं को दर्शाता है। पेशाब का रंग गाढ़ा होना या रंग में बदलाव भी इसका संकेत हो सकता है। यदि आप अपने पेट के बाईं या दाईं ओर असहनीय दर्द कर रहे हैं, तो यह हल्के में न लें, क्योंकि यह ग्लिन में परेशानी का संकेत हो सकता है। रोग में पेशाब की मात्रा बढ़ जाती है या कम हो जाती है।

ऐसी स्थितियों में, यह जानने की कोशिश करें कि बार-बार पेशाब आने के कारण किडनी की कोई समस्या नहीं है। पेशाब की कमी या कमी को बहुत अच्छा नहीं माना जाता है। यदि आपको पेशाब लगता है और जब आप जाते हैं तो पेशाब नहीं आता है, तो यह भी किडनी खराब होने का एक लक्षण है।

यदि आप अपना पेशाब करते समय जलन या बेचैनी महसूस करते हैं, तो इसका मतलब है कि या तो आपको मूत्र संक्रमण हुआ है या आपकी योनि में कुछ समस्या है। उस स्थिति में, आपको एक बार डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। छोटे कार्य करने के बाद, कमजोरी, थकान महसूस करना याहमसोन का स्तर गिरना किडनी खराब होने के कारण संक्रमण है।

किडनी के काम ना करने की वजह से शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं कम हो जाती हैं इससे हमारे शरीर में ऑक्सीजनकी कमी हो जाती है जिसकी वजह से सांस लेने में तकलीफ होती है। इस बीमारी के कारण आपकी आंखों में दर्द होता है और मस्तिष्क पर दर्द होने लगता है, जिससे आप किसी भी चीज पर ध्यान नहीं लगा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here